Sunday, June 16, 2024
Homeदेशगाजियाबाद की दो बेटियों का यूपीएससी में बजा डंका
spot_img

गाजियाबाद की दो बेटियों का यूपीएससी में बजा डंका

गाजियाबाद, 24 सितम्बर: यूपीएससी (संघ लोक सेवा आयोग) परीक्षा 2020 में वसुंधरा की रहने वाली अपाला मिश्रा ने 9वां व प्रताप विहार निवासी हर्षिका ने 169वां रैंक हासिल कर जनपद का नाम रोशन किया है। बस्ती की रहने वाली अपाला परिवार के साथ गाजियाबाद के वसुंधरा सेक्टर पांच स्थित ओलिव काउंटी में रहती हैं। उनके पिता अमिताभ मिश्रा आर्मी में कर्नल और बड़े भाई अभिलेख मेजर हैं।

माता अल्पना मिश्रा दिल्ली विश्वविद्यालय में हिंदी फैकल्टी में प्रोफेसर हैं। अपाला मिश्रा ने 10वीं तक की पढ़ाई देहरादून और 11वी व 12वी की पढ़ाई रोहणी दिल्ली से की। वर्ष 2017 में हैदराबाद से बैचलर आफ डेंटल सर्जरी की पढ़ाई कर डाक्टर बनीं। अपाला मिश्रा का कहना है कि उन्हें तीसरी बार में परीक्षा में सफलता हासिल हुई।

हर्षिका ने पिता को दिया सफलता का श्रेय
हर्षिका सिंह ने अपनी सफलता का श्रेय प्रयागराज में रह रहे चाचा आर्थोपेडिक डा. राजेश कुमार सिंह के मार्गदर्शन और परिजनों व शिक्षकों को दिया। साथ ही अपनी सफलता का श्रेय उन्होंने अपने पिता को भी दिया। उनका कहना है पिता ने लगातार उन्हें मोटिवेट किया और आज वह आईएएस बन सकी। मूल रूप से कौशांबी जिले के टीकरी नागी गांव की रहने वाली हर्षिका ने दसवीं में होली चाइल्ड स्कूल से 94 फीसद अंक और 12वीं डीपीएसजी मेरठ रोड से 94 फीसद अंकों के साथ की थी। इसके बाद बीटेक सिविल इंजीनियरिग आइईटी लखनऊ से 2017 में की। बीटेक में वह अपने ब्रांच में टापर रहीं थी। 2017 से ही उन्होंने सिविल सर्विस की तैयारी शुरू कर दी थी। हर्षिका के पिता अवधेश कुमार व्यवसायी और मां स्नेह प्रभा सिंह गृहिणी हैं। उनके छोटे भाई दीपक सिंह साफ्टवेयर इंजीनियर है। हर्षिका सिंह का कहना है कि सच्ची लगन व मेहनत से किया गया कार्य कभी भी बेकार नहीं जाता। मंजिल को पाने के लिए लगातार प्रयास से वह आखिर मिल ही जाती है।
यूपीपीसीएस में मिली थी 15वीं रैंक

यूपीएससी से पूर्व हर्षिका सिंह यूपीपीसीएस भी क्लीयर कर चुकी है। उन्होंने बताया कि उन्होंने यूपीपीसीएस रिजल्ट में 15वीं रैंक हासिल कर एसडीएम के लिए सलेक्ट हो चुकी है। बताया कि यदि वह इस बार यूपीएससी में सलेक्ट नहीं हो पाती तब वह यूपीपीएससी सेवा ज्वाइंन कर लेती।
बेटी के आईएएस में चयन होने पर दोनों ही परिवार में खुशी की लहर है। बधाई देने के लिए रिश्तेदार व आसपास के लोग घर पहुंच रहे है।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!