Sunday, June 16, 2024
Homeराज्यUttar Pradeshआगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे पर बस खाई में गिरी, 15 माह के मासूम समेत...
spot_img

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे पर बस खाई में गिरी, 15 माह के मासूम समेत छह लोगों की मौत

फिरोजाबाद जिले के नगला खंगर इलाके में बुधवार को 50 यात्रियों को ले जा रही एक निजी बस के ट्रक से टकराकर सड़क किनारे खाई में गिर जाने से छह लोगों की मौत हो गयी और 21 अन्य घायल हो गये। स्लीपर बस पंजाब के लुधियाना से उत्तर प्रदेश के रायबरेली जा रही थी।

हादसा बुधवार तड़के करीब साढ़े चार बजे माइलस्टोन 61 के समीप हुआ। हादसे में 15 महीने के मासूम और उसकी मां की भी मौत हो गई। अपनी आंखों के सामने पत्नी और बेटे का शव देखकर पिता बदहवास हो गया। हादसे के बाद दो घंटे तक एक्सप्रेसवे पर अफरा-तफरी का माहौल रहा। घायलों की चीत्कार और अपनों को खोने वालों की करुण पुकार लोगों को झकझोर रही थी। लोग एक-दूसरे को तलाशते नजर आ रहे थे। हादसे के बाद क्षतिग्रस्त बस में फंसे दो लोगों को निकालने में पुलिस और प्रशासन को काफी मशक्कत करनी पड़ी। पुलिस ने सभी घायलों को सैफई मेडिकल कॉलेज भिजवाया। वहीं हादसे की सूचना मिलने के बाद मृतकों के परिजन भी वहां पहुंच गए।

दुर्घटना डीसीएम के केंटर वाहन से टकराने से हुई। हादसा इतना भीषण था कि डीसीएम से टकराने के बाद बस एक्सप्रेसवे से नीचे गड्ढे में पलट गई। एसएसपी आशीष तिवारी, एसपी ग्रामीण रणविजय सिंह और सीओ सिरसागंज कमलेश कुमार के साथ कई थानों का फोर्स मौके पर पहुंचा। बचाव कार्य में काफी मशक्कत करनी पड़ी। क्रेन मंगवाकर बस को गड्ढे से बाहर निकाला गया।

अधिकारियों और पुलिस को तुरंत सूचित किया गया और घायलों को सैफई मेडिकल कॉलेज ले जाया गया। मरने वालों में एक 14 महीने का बच्चा और मां और चार पुरुष शामिल हैं।

पुलिस के मुताबिक, उनके पास से बरामद दस्तावेजों के आधार पर छह मृतकों में से चार की पहचान की पुष्टि हो गई है। इनमें फतेहपुर निवासी रीना कुमार (22), उसका 14 माह का बेटा अयांश, गाजियाबाद निवासी संतलाल (67) व फतेहपुर निवासी राजेश कुमार (25) शामिल हैं।

घायलों में बच्चे के पिता सुनील कुमार और बस चालक शामिल हैं। पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) रणविजय सिंह ने कहा, “हादसा आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे पर 61 किलोमीटर मील के पत्थर के पास हुआ। पुलिस और एक्सप्रेसवे के अधिकारी मौके पर पहुंचे और बचाव अभियान शुरू किया। 21 घायल यात्रियों को अस्पताल ले जाया गया। शेष यात्रियों को रोडवेज बसों से उनके गंतव्य के लिए रवाना किया गया। शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।”

“दुर्घटना के समय ज्यादातर यात्री सो रहे थे। उनमें से कुछ ने हमें सूचित किया कि बस चालक को नींद आ रही थी और वह शायद स्टीयरिंग व्हील से नियंत्रण खो बैठा था। एसपी ने कहा कि इलाके के सीसीटीवी फुटेज की भी जांच की जा रही है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शोक व्यक्त किया और अधिकारियों को घायलों का उचित इलाज सुनिश्चित करने का निर्देश दिया।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!