Thursday, June 20, 2024
Homeदेशआबकारी नीति मामले में CBI के सामने पेश होने से पहले बोले...
spot_img

आबकारी नीति मामले में CBI के सामने पेश होने से पहले बोले मनीष सिसोदिया, कुछ महीनों के लिए जेल भी जाना पड़े तो भी परवाह नहीं

आबकारी नीति मामले में सीबीआई की पूछताछ से पहले दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा है कि आज वह एजेंसी के सामने पेश होंगे और पूरा सहयोग करेंगे। उन्होंने कहा है कि देशवासियों का आशीर्वाद है, कुछ महीनों के लिए जेल भी जाना पड़े तो भी परवाह नहीं।

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के लिए सीबीआई (CBI) ने सवालों का एक विस्तृत सेट तैयार किया है। गिरफ्तारी की आशंका के बीच आबकारी नीति मामले में पूछताछ के लिए जांचकर्ताओं के समक्ष मनीष सिसोदिया के आज रविवार को पेश होने की संभावना है।

मनीष सिसोदिया, जिनके पास दिल्ली मंत्रिमंडल में वित्त विभाग भी है, उनको मूल रूप से पिछले रविवार को तलब किया गया था। उन्होंने चल रही बजट कवायद का हवाला देते हुए अपनी पूछताछ टालने की मांग की थी, जिसके बाद जांच एजेंसी ने उन्हें 26 फरवरी को पेश होने के लिए कहा था।

सिसोदिया ने सीबीआई दफ्तर जाने से पहले ट्वीट कर कहा कि कुछ महीने जेल में रहना पड़े परवाह नहीं है।


उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘‘आज फिर CBI जा रहा हूं, सारी जांच में पूरा सहयोग करूंगा। लाखों बच्चो का प्यार व करोड़ों देशवासियो का आशीर्वाद साथ है कुछ महीने जेल में भी रहना पड़े तो परवाह नहीं। भगत सिंह के अनुयायी हैं, देश के लिए भगत सिंह फांसी पर चढ़ गए थे। ऐसे झूठे आरोपों की वजह से जेल जाना तो छोटी सी चीज़ है।’’



आबकारी नीति मामले में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया से सीबीआई की पूछताछ से पहले आप ने शनिवार को कहा कि वह जांच में पूरा सहयोग करेंगे और जोर देकर कहा कि यह एक ‘कट्टर ईमानदार’ पार्टी है।

उन्होंने कहा, “मनीष सिसोदिया सीबीआई जांच के लिए जाएंगे और उनका पूरा सहयोग करेंगे। पिछले 8 से 10 सालों में आप नेताओं के खिलाफ लगभग 150-200 मामले दर्ज किए गए हैं। लेकिन वे (केंद्र) भ्रष्टाचार साबित नहीं कर पाए हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि आम आदमी पार्टी (आप) एक कट्टर ईमानदार पार्टी है।”

आप के वरिष्ठ नेता से पिछले साल 17 अक्टूबर को एक दिन के लिए पूछताछ की गई थी, इससे करीब एक महीने पहले केंद्रीय जांच एजेंसी ने बिचौलियों और शराब व्यापारियों सहित सात लोगों के खिलाफ चार्जशीट दायर की थी, जिसमें सिसोदिया को आरोपी के रूप में सूचीबद्ध नहीं किया गया था, लेकिन एजेंसी ने उनकी कथित भूमिका की जांच खुली रखी थी।

चार्जशीट दायर करने के करीब तीन महीने बाद, सीबीआई सिसोदिया से अब रद्द की जा चुकी आबकारी नीति के विभिन्न पहलुओं, शराब कारोबारियों और राजनेताओं के साथ उनके कथित संबंधों और उनके बयानों में गवाहों द्वारा किए गए दावों पर पूछताछ करेगी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!