Thursday, June 20, 2024
Homeदेशप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मन की बात 99वां संस्करण ब्रैल लिपि में...
spot_img

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मन की बात 99वां संस्करण ब्रैल लिपि में भी उपलब्ध

देहरादून स्थित सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय के तहत स्थापित नेशनल इंस्टीट्यूट फार द इम्पावरमेंट आॅफ पर्सन्स विद विजुअल डिस्एबिल्टीज

(दिव्यांगजन) में अत्याधुनिक ब्रेल प्रेस में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मन की बात कार्यक्रम का ब्रेल सस्करण उपलब्ध है। आगे भी संस्थान द्वारा नियमित रूप से ब्रेल लिपि में रूपातंतरण किया जा रहा है। यह जानकारी एम आई अहमद, इनचार्ज ब्रेल प्रेस ने दिया।

यहां ब्रल लिपि में मन की बात कार्यक्रम के अलावा मतदाता सूची के दिव्यांग जनों कार्ड भी ब्रेल लिपि में बनाया जाते हैं। दिव्यांग जनों को उनकी कठिन स्थिति से उभारना ही व उनकी जीवन में शिक्षा की कमी को दूर करना ही इस प्रेस का कार्य है।

इनका सामाजिक, आर्थिक और मानसिक विकास हो सके इसके लिए यह प्रेस धर्म ग्रंथ, विभिन्न पाठक्रमों की भी पुस्तके व किसी लेखकों द्वारा विभिन्न विषयों पर लिखी गई पुस्ताकों को भी ब्रेल लिपि में अनुवाद कर देश के विभिनन संस्थानों व दृष्टि बाधितों को उपलब्ध कराता है।

दिृष्टि बधितों के लिए पुस्तिक छाापने व प्रकािशत करने के अलावा यह संस्थान उनके समपूर्ण विकास के लिए शिक्षा के कई क्षेत्रों में काम करता है। लेकिन जब शिक्षक किसी दिव्यांग व दिष्टिवाधितों को देनी पड़े तो शिक्षको के साथ अभिवावाकों का भी परिश्रम व जिम्मेदारी बढ़ जाती है।

नेशनल इंस्टीट्यूट फार द इम्पावरमेंट ऑफ पर्सन्स विद विजुअल डिसेबिलिटीज, दिव्यांगजन द्ध के क्रॉस डिसेबिलिटी शीघ्र हस्तक्षेप केंद्र में छोटे बच्चें (4 से 12 साल के छात्र) अपने अभिभावकों के साथ आते है। यहां के शिक्षक प्रतिदिन इन छात्रों को इनके परिचनो के समक्ष शिक्षा देते है। छोटो दिवंयांग और दृष्टीहीन छात्रो को पढाना किसी चुनौती से कम नहीं होता है। दृष्टि बाधित बालक वह होते हैं, जो कि अपनी आंखों से ठीक प्रकार से नहीं देख पाते हैं।

आज के इस आधुनिक युग को देखते हुए यह राष्ट्रीय दृष्टि दिव्यांगजन सशक्तिकरण संस्थान भी कई आधुनिक व नये पाठ्रक्रमों को छात्रों के लिए ला रहा है। इन्ही में से एक पाठ्रक्रम है आर्टिफिशियल इंटिलिजेंस एआई । इस साल से यहां दिव्यांगजनों के लिए एआई पाठक्रमों को शुरू करने की तैयारी पूरी हो चूकी है। अब यहां के छात्र आधुनिक तकनिक का इस्तेमाल कर आईटी क्षेत्र में भी अच्छा प्रर्दशन करेंगे। इन छात्रों के विकास के लिए यहां पर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस मशीनों विशेष रूप से कंप्यूटर सिस्टम एआई के विशिष्ट अनुप्रयोगों में विशेषज्ञ प्रणाली ए कंप्यूटिंग डिवाइसए वाक् पहचान सहित कई उपकरणों की व्यवस्था दिृष्टि वाधितों के कर ली गई है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!